Agra News : हॉस्पिटल संचालक समेत चार पर केस दर्ज, कोर्ट के आदेश पर धोखाधड़ी और गर्भपात समेत कई धाराओं में एफआईआर

गर्भधारण के लिए महिला ने रवि वुमन हॉस्पिटल में डॉ. रजनी पचौरी और डॉ. पल्लवी भटनागर से सलाह ली

On

बताया कि आईवीएफ का 2.70 लाख रुपये का पैकेज है, उन्हें गर्भधारण करने के तीन चांस दिए जाएंगे

Agra News : ताजनगरी के अस्पतालों पर मरीजों और तीमारदारों का आरोप लगाना कोई नई बात नहीं है। वह ताजनगरी के निजी अस्पतालों पर गंभीर आरोप लगाते रहे हैं। इसके बावजूद अस्पताल संचालक मनमानी कर रहे हैं। इस कड़ी में हरीपर्वत थाना क्षेत्र के रवि वूमेन हॉस्पिटल पर गंभीर आरोप लगे हैं।

2.70 लाख रुपये का पैकेज था और 10 लाख रुपये जमा करा लिए

बताया जा रहा है कि आगरा के मधुनगर की रहने वाली प्रियंका ने कोर्ट के माध्यम से हरीपर्वत थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। बताया जा रहा है कि 17 अक्टूबर 2020 को गर्भधारण के इलाज के लिए उन्होंने रवि वुमन हॉस्पिटल में डॉ. रजनी पचौरी और डॉ. पल्लवी भटनागर से सलाह ली। उन्हें बताया गया कि आईवीएफ का 2.70 लाख रुपये का पैकेज है और उन्हें आईवीएफ के जरिए गर्भधारण करने के तीन चांस दिए जाएंगे, उन्होंने 2.70 लाख रुपये जमा करा लिए। आरोप है कि पहली बार गर्भधारण न होने पर दूसरी बार गर्भधारण के लिए पैकेज में कहा गया था। इसके बाद भी पैसे जमा कराए गए, गर्भपात किया गया। इस तरह करीब 10 लाख रुपये जमा करा लिए गए।

यह भी पढ़े - बलिया के अवलेश सिंह और राबर्ट्सगंज के अविनाश कुशवाहा को सपा ने दी बड़ी जिम्मेदारी

इन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया

इस मामले में कोर्ट के आदेश पर थाना हरीपर्वत में रवि वूमेन हॉस्पिटल के संचालक डॉ.रवि मोहन पचौरी, डॉ. रजनी पचौरी, डॉ.पल्लवी भटनागर और अकाउंटेंट अंशुल सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी, गर्भपात कराने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

हॉस्पिटल संचालक ने आरोपों को निराधार बताया

इस मामले में रवि वूमेन हॉस्पिटल के संचालक डॉ. रवि मोहन पचौरी का कहना है कि इस मामले में सीएमओ से जांच कराई गई है, टीम ने सभी आरोपों को निराधार बताया है, पुलिस जांच में भी यह बात सामने आ जाएगी।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts