पश्चिम बंगाल की जेलों में महिला कैदियों के गर्भवती होने का मामला, सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान

On

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने पश्चिम बंगाल के सुधार गृहों में कैद कुछ महिला कैदियों के गर्भवती होने के मामले पर शुक्रवार को संज्ञान लिया। मामले की जांच के लिए सहमति व्यक्त करते हुए, न्यायमूर्ति संजय कुमार और न्यायमूर्ति अहसानुद्दीन अमानुल्लाह की पीठ ने वरिष्ठ वकील गौरव अग्रवाल से इस मुद्दे को देखने और एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा। अग्रवाल जेलों में कैदियों की भीड़ से संबंधित मामले में न्याय मित्र के रूप में शीर्ष अदालत की सहायता कर रहे हैं। 

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

सीतापुर में आकाशीय बिजली गिरने से खेत में काम कर रहे युवक की मौत सीतापुर में आकाशीय बिजली गिरने से खेत में काम कर रहे युवक की मौत
सीतापुर: पिसावां थाना इलाके में आकाशीय बिजली गिरने से किसान के बेटे की मौत हो गई। सुबह से रुक रुक...
राजस्व प्रकरणों के निराकरण में कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगीः कलेक्टर
केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा खूंटी में 1100 करोड़ की योजनाओं का करेंगे शिलान्यास
घर के अंदर खून से लथपथ मिला सब इंस्पेक्टर का शव, जांच में जुटी पुलिस
कांवड़ियों से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली में ट्रक ने मारी टक्कर, एक दर्जन से ज्यादा शिव भक्त हुए घायल
Fatehpur News: दो ट्रक आपस में टकराए, यमुना नदी की रेलिंग तोड़कर लटके, टला बड़ा हादसा
शादी में डीजे पर डांस कर रहे चार लोगों की करंट से मौत