स्कूल परिसर में पेड़ की डाली कटवाकर फंसे प्रधानाध्यापक, बीएसए ने लिया बड़ा एक्शन

On

देवरिया। बिना अनुमति पीपल के पेड़ की डालियां कटवाना प्रधानाध्यापक खैरुल बसर के निलंबन का कारण बन गया। बीईओ की रिपोर्ट पर बेसिक शिक्षा अधिकारी ने प्रधानाध्यापक के विरुद्ध कार्रवाई कर दी है। वहीं, वन विभाग के अधिकारियों ने मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्राथमिक विद्यालय मुरार छापर के परिसर में पीपल का पुराना पेड़ है, जिस पर सैकड़ों पक्षी घोंसला बनाकर रहते हैं। शनिवार को विद्यालय बंद होने के बाद प्रधानाध्यापक ने मजदूर बुलाकर हरे पेड़ की डालियां कटवानी शुरू कर दी। डालियां गिरते ही पक्षियों के अलावा घोंसलों में रखे चूजों की भी दबने से मौत हो गई। पक्षियों की मौत से भावुक ग्रामीणों ने इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से कर दी।

खंड शिक्षा अधिकारी (BEO) गोपाल मिश्र ने रविवार को विद्यालय पहुंचकर जांच कर अपनी रिपोर्ट बीएसए को सौंप दी। बीएसए देवरिया शालिनी श्रीवास्तव ने कहा कि प्रधानाध्यापक ने बिना किसी अनुमति के हरे पेड़ की टहनियां कटवाई हैं। जिससे पक्षी भी मर गए हैं। प्रधानाध्यापक को निलंबित कर जांच कराई जा रही है। वहीं, वन क्षेत्राधिकारी देवरिया अनुपम मौर्या नेबताया कि हरे पेड़ को कटवाने से पहले अनुमति ली जानी चाहिए थी। घायल नौ पक्षियों का उपचार चल रहा है। दोषी के विरुद्ध वन जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। उधर, प्रधानाध्यापक खैरुल बशर ने बताया कि बगुले के बच्चों के बीट से विद्यालय परिसर में काफी गंदगी हो रही थी। बच्चों में बीमारी फैलने का भय बना रहता था, जिसे देखते हुए पेड़ की डालियों को कटवा दिया गया है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment