पितृपक्ष 2023ः गयाजी में 17 दिवसीय पितृपक्ष मेला शुरू, पहले दिन पहुंचे 25 हजार तीर्थयात्री

On

Bihar News: बिहार के गया में स्थित पितरों के मोक्षधाम गयाजी तीर्थ में 17 दिवसीय पितृपक्ष मेला महासंगम गुरुवार से शुरू हुआ. 17 दिवसीय मेले के पहले दिन पुनपुन नदी अथवा गोदावरी सरोवर में पिंडदान व तर्पण का विधान है. इस परंपरा के तहत पुनपुन नहीं जाने वाले तीर्थयात्रियों ने शहर के दक्षिणी क्षेत्र स्थित गोदावरी सरोवर में पितरों की आत्मा की शांति व मोक्ष प्राप्ति की कामना को लेकर अपने कुल पंडा के निर्देशन में पिंडदान व तर्पण का कर्मकांड संपन्न किया. पंडाजी प्रमोद मेहरवार ने बताया कि एक दिन का कर्मकांड करने के निमित्त देश के विभिन्न राज्यों से मेले के पहले दिन करीब 25 हजार तीर्थयात्री यहां पहुंचे. इनमें से अधिकतर तीर्थयात्रियों ने अपने कुल पंडा के निर्देशन में फल्गु नदी के देवघाट, विष्णुपद व अक्षयवट वेदी पर पितरों की आत्मा की शांति व मोक्ष प्राप्ति की कामना को लेकर पिंडदान, श्राद्धकर्म व तर्पण का कर्मकांड पूरा किया. श्रीविष्णुपद प्रबंधकारिणी समिति के अध्यक्ष शंभू लाल विट्ठल ने बताया कि पुनपुन नदी में माथा मुंडन कराने के बाद श्रद्धालु त्रिपाक्षिक पिंडदान के लिए गयाजी आते हैं. धार्मिक ग्रंथों व पुराणों के अनुसार माथा मुंडन कराने वाले श्रद्धालुओं को तीर्थ के समान फल की प्राप्ति होती है.

आज से शुरू होगा गया से पाटलिपुत्र जंक्शन के लिए ट्रेन का परिचालन

 गया में लगने वाले पितृपक्ष मेले के अवसर पर श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए पाटलिपुत्र और गया के मध्य गाड़ी संख्या 05553/05554 पाटलिपुत्र-गया-पाटलिपुत्र पितृपक्ष मेला स्पेशल ट्रेन का परिचालन किया जायेगा. इस स्पेशल ट्रेन का परिचालन 29 सितंबर से 14 अक्तूबर तक प्रतिदिन किया जायेगा. इस संबंध में हाजीपुर के मुख्य जन संपर्क अधिकारी वीरेंद्र कुमार ने बताया कि गाड़ी संख्या 05553 पाटलिपुत्र-गया पितृपक्ष मेला स्पेशल 29 सिंतबर से 14 अक्तूबर तक पाटलिपुत्र से प्रतिदिन 10.30 बजे प्रस्थान कर 14.00 बजे गया पहुंचेगी. वहीं वापसी में गाड़ी संख्या 05554 गया-पाटलिपुत्र स्पेशल 29 सितंबर से 14 अक्तूबर तक गया से प्रतिदिन 14.45 बजे प्रस्थान कर 18.25 बजे पाटलिपुत्र पहुंचेगी. अप एवं डाउन दिशा में यह स्पेशल ट्रेन पाटलिपुत्र और गया के बीच फुलवारीशरीफ, पटना, पुनपुन, पोठही, तारेगना, जहानाबाद, मखदुमपुर व बेला स्टेशनों पर रुकते हुए गया रेलवे स्टेशन पहुंचेगी.

यह भी पढ़े - केजरीवाल को हाई कोर्ट से झटका,सुनवाई पूरी होने तक जमानत आदेश पर रोक

14 अक्तूबर तक किया जायेगा पिंडदान

शासन-प्रशासन की ओर से पूरी तौर से शहर को विकसित बनाने के लिए काम किया जा रहा है. पितृपक्ष मेले के विकास से रोजगार व शहर के लोगों को समृद्ध बनाने की दिशा में काफी बल मिलने लगा है. सरकार की ओर से गयाजी को विकसित करने के लिए कई योजनाओं को पूरा किया गया है. उक्त बातें पितृपक्ष मेला महासंगम 2023 का उद्घाटन करते हुए राजस्व व भूमि सुधार मंत्री आलोक मेहता ने विष्णुपद प्रांगण में गुरुवार को कही. इससे पहले कस्तूरबा गांधी स्कूल, बोधगया की बच्चियों ने स्वागत गान किया. इसके बाद जगदगुरु शंकराचार्य मठ के लोगों ने स्वस्ति वाचन कर मेले का शंखनाद किया. इस मौके पर मंत्री आलोक मेहता ने कहा कि पितृपक्ष मेले पर सरकार का विशेष ध्यान है. हर वर्ष व्यवस्थाओं को बढ़ाया जा रहा है. आनेवाले दिनों में मेले के बजट में विस्तार किया जायेगा. मंत्री ने कहा कि यहां की व्यवस्था से अन्य प्रदेशों के आयोजनों में सीखने की जरूरत है.

धार्मिक पर्यटन के रूप में शहर को विकसित करने की दिशा में सरकार की ओर से काम शुरू कर दिया गया है. मेले का विस्तार जितना अधिक होगा, आर्थिक व सामाजिक विकास अधिक होगा. उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता कृषि मंत्री कुमार सर्वजीत, सांसद विजय कुमार, पूर्व मंत्री सह नगर विधायक डॉ प्रेम कुमार, विधायक मंजू अग्रवाल, ज्योति मांझी, एमएलसी जीवन कुमार, प्रमंडल आयुक्त मयंक बड़बड़े, आइजी क्षत्रनील सिंह, डीएम डॉ त्यागराजन एसएम, प्रभारी एसएसपी हिमांशु, डीडीसी विनोद दूहन, डिप्टी मेयर चिंता देवी, जिला पर्षद अध्यक्ष नैना कुमारी, जिप उपाध्यक्ष डॉ शीतल प्रसाद यादव, जदयू महानगर अध्यक्ष राजू वर्णवाल, राजद जिलाध्यक्ष मोहम्मद मुर्शीद आलम उर्फ नेजाम, कांग्रेस जिलाध्यक्ष गगन मिश्रा आदि मौजूद थे.

गया गदाधर धामीपंडा समिति द्वारा ब्रह्मकुंड, प्रेतशिला, रामकुंड, रामशिला, कागवली पंच वेदी मोक्षधाम में आयोजित पितृपक्ष मेला का उद्घाटन पूर्व मंत्री सह नगर विधायक डॉ प्रेम कुमार और युवा जदयू के जिलाध्यक्ष कुमार गौरव उर्फ गौरव सिन्हा ने संयुक्त रूप से किया. मौके पर विधायक प्रेम कुमार ने कहा कि इस बार भी पितृपक्ष मेला को लेकर बेहतर व्यवस्था की गयी है. सरकार इस तरह की व्यवस्था आगे भी कायम रखे. वहीं युवा जदयू के जिलाध्यक्ष कुमार गौरव उर्फ गौरव सिन्हा ने कहा कि नीतीश कुमार ने गया के दृश्य को ही बदलकर रख दिया है. जिस गया में लोग पानी के लिए तरसते थे उस गया में गंगाजल को पहुंचाकर इतिहास रचा है. पितृपक्ष मेला का विह्ंगम दृश्य सबको अपनी ओर आकर्षित कर रहा है. मौके पर शिवा पांडेय, लाल पांडेय, सत्येंद्र पांडेय, भोलू पांडेय, जय पांडेय, देव पांडेय, कृष्णा पांडेय, प्रदेश महासचिव राजद विनय कुशवाहा, अंकुश बग्गा, नरेश पांडेय, कोरमा पंचायत के मुखिया प्रखंड विकास पदाधिकारी व अन्य मौजूद थे.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment