MP Election 2023 : लोगों को लखपति-करोड़पति बनाने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं कैलाश विजयवर्गीय!

On

MP Election 2023 : मध्य प्रदेश में चुनाव से पहले नेताओं की बयानबाजी का दौर जारी है. इस क्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ऐसा बयान दिया है जिसकी चर्चा राजनीतिक गलियारे में तेजी से होने लगी है. दरअसल, तेज रफ्तार विकास के वादे के साथ अपने लिए वोट मांगते हुए उन्होंने कहा कि वह लोगों को लखपति और करोड़पति बनाने के लिए चुनावी मैदान में उतरे हैं. आपको बता दें कि विजयवर्गीय 10 साल के लंबे अंतराल के बाद विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. बीजेपी ने उन्हें कांग्रेस के कब्जे वाली इंदौर-1 सीट से चुनावी मैदान में उतारा है. राष्ट्रीय महासचिव विजयवर्गीय ने बीजेपी कार्यकर्ताओं की एक बैठक में कहा कि उनके चुनाव जीतने पर इस क्षेत्र का इतना विकास होगा कि पांच साल बाद लोगों के मकान की कीमत तीन गुना बढ़ती नजर आएगी. उन्होंने कहा कि मैं आपको लखपति और करोड़पति बनाने आया हूं.

राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने आगे कहा कि वह इंदौर-2 विधानसभा क्षेत्र के नंदा नगर के जिस घर में रहते हैं, उसकी कीमत कभी 10 लाख रुपये थी जो आज बढ़कर डेढ़ करोड़ रुपये हो चुकी है क्योंकि सत्तारूढ़ बीजेपी द्वारा सुदृढ़ बुनियादी सुविधाएं प्रदान किए जाने के बाद इस इलाके का काफी विकास हुआ है. अपने संबोधन में विजयवर्गीय इंदौर-1 के मौजूदा कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला द्वारा पिछले पांच बरसों में कई धार्मिक कार्यक्रमों व भंडारों के आयोजन और महिलाओं को कथित रूप से साड़ियां बांटने पर भी निशाना साधते दिखे. संजय शुक्ला की बात करें तो 2018 के विधानसभा चुनाव में इंदौर-1 से जीतकर वह पहली बार विधायक बने थे. संजय शुक्ला की बात करें तो उन्होंने पिछले चुनाव में बीजेपी नेता सुदर्शन गुप्ता को 8163 वोटों से हराया था. संजय शुक्ला की इंदौर शहर में लोगों के बीच अच्छी पकड़ मानी जाती है.

यह भी पढ़े - T20 वर्ल्ड कप के बीच गृह मंत्री अमित शाह से मिले गौतम गंभीर, लोकसभा चुनाव में मिली जीत की दी बधाई

कैलाश विजयवर्गीय ने साधा कांग्रेस पर निशाना

कैलाश विजयवर्गीय ने बैठक में मौजूद बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा कि आपके मोहल्ले में जो लोग अब तक कांग्रेस को वोट देते आए हैं, आप उन्हें समझाइए कि वे भले ही (कांग्रेस विधायक के आयोजित कार्यक्रमों में) भोजन करें, धार्मिक कथा सुनें और साड़ी भी रख लें, पर (आगामी विधानसभा चुनावों में) वोट भाजपा को ही दें. उन्होंने कहा कि मैं तो अब चुनाव लड़ना ही नहीं चाहता था, लेकिन मुझे बीजेपी ने कांग्रेस विधायक को उनके घर पहुंचाने के लिए भेज दिया है. पार्टी वालों को भगवान ने बुद्धि इसलिए दी क्योंकि इंदौर-1 क्षेत्र में बहुत पाप हो रहे हैं. बीजेपी महासचिव अपने चुनाव प्रचार के दौरान इंदौर-1 के मतदाताओं से लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन के विस्तार, क्षेत्र में पेयजल की समस्या दूर कराने, यातायात जाम से मुक्ति दिलाने और नशीले पदार्थों का अवैध कारोबार खत्म कराने के वादे भी कर रहे हैं.

इंदौर-1 विधानसभा सीट का समीकरण क्या है जानें

इंदौर-1 विधानसभा सीट पर नजर डालें तो यहां 3 लाख 48 हजार मतदाता हैं. इस विधानसभा में 178819 पुरुष मतदाता है जबकि 169107 महिला मतदाताओं की संख्या हैं. विधानसभा क्रमांक-01 पर अधिकांशतः बीजेपी का कब्जा रहा है. इस क्षेत्र की बात करें तो यहां ब्राह्मण मतदाताओं की संख्या सबसे अधिक है. जैन समुदाय के मतदाता भी इस सीट पर हार-जीत में बड़ी भूमिका अदा करते दिखते हैं. 2013 के चुनाव पर नजर डालें तो यहां बीजेपी ने सुदर्शन गुप्ता को मैदान में उतारा था. उन्हें 99558 वोट देकर मतदाताओं ने विजय दर्ज करवाया था. 2013 के चुनाव में निर्दलीय कमलेश खंडेलवाल को 54176 वोटों अंतर से सुदर्शन गुप्ता ने हराया था. वहीं कांग्रेस के दीपू यादव को 37595 मतों से ही संतोष करना पड़ा था.

कैलाश विजयवर्गीय ने टिकट मिलने के बाद क्या कहा था

कैलाश विजयवर्गीय ने चुनावी टिकट मिलने के बाद मीडिया से बात की थी. इस दौरान उन्होंने कहा था कि हमें (बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को) कांग्रेस का सूपड़ा साफ करने के लिए चुनावी मैदान में उतारा गया है. बीजेपी के दिग्गज नेता ने ये भी कहा कि सूबे के विधानसभा चुनावों में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं को उम्मीदवार के तौर पर उतारे जाने से कांग्रेस का गढ़ा यह विमर्श टूट गया है कि कांग्रेस चुनाव जीतने जा रही है. विजयवर्गीय ने कहा कि उन्होंने बीजेपी संगठन के सामने पूर्व में इच्छा जताई थी कि वह चुनाव नहीं लड़ना चाहते. उन्होंने कहा कि चुनावी टिकट मिलने से मैं आश्चर्यचकित हूं. बीजेपी संगठन द्वारा मुझे फिर से चुनावी राजनीति में भेजा जाना मेरे लिए सौभाग्य की बात है. मैं पार्टी की अपेक्षाओं पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा.

भाषा इनपुट के साथ

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment