इजरायल ने हमास आतंकवादियों' को बनाया निशाना 

On

गाजा : इजरायल की सेना ने सोमवार को एक बार गाजा सिटी के अल-शिफा अस्पताल को निशाना बनाया.  टैंकों और एयर स्ट्राइक से हमास शासित क्षेत्र के सबसे बड़े मेडिकल सेंटर पर हमला बोला गया. यह जगह मरीजों और विस्थापित लोगों से भरी हुई है.

इजरायल ने दावा किया कि 'सीनियर हमास आतंकवादियों' को निशाना बनाकर की गई छापेमारी के दौरान 20 फिलिस्तीनी ऑपरेटिव मारे गए और कई लोगों को हिरासत में लिया गया.

इजरायल के सैन्य प्रवक्ता रियर एडमिरल डैनियल हगारी ने एक बयान में कहा, 'ऑपरेशन के दौरान हमने 200 से अधिक संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया.' उन्होंने कहा, 'हमने हॉस्पिटल कॉम्प्लेक्स के अंदर 20 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया और अस्पताल के आसपास के क्षेत्र में 20 अन्य आतंकवादी मारे गए.'

मृतकों में फायक अल-मबौह भी शामिल था, जिसके बारे में हगारी का कहना है कि वह 'हमास के आंतरिक सुरक्षा संगठन में स्पेशल ऑपरेशन का चीफ था.' एएफपी के मुताबिक गाजा पुलिस के एक सूत्र ने उनकी मौत की पुष्टि करते हुए कहा कि मबौह फोर्स में ब्रिगेडियर जनरल था.

यह भी पढ़े - पीएम मोदी का सहारनपुर में विपक्ष पर प्रहार, कहा...

इजरायली सेना ने नवंबर में किया था अस्पताल पर हमला
बात दें इजराइली सेना ने पिछले नवंबर में अल शिफा अस्पताल पर हमला किया था. सेना ने उस वक्त दावा किया था कि हमास ने अस्पताल के भीतर और उसके नीचे एक कमांड सेंटर बना रखा था.

सेना ने कुछ अंडरग्राउंड कमरों तक जाने वाली एक सुरंग का भी पता लगाया था और अस्पताल के अंदर से हथियार बरामद किए थे. हालांकि दावों के मुकाबले सबूत कम होने की वजह से आलोचकों ने सेना पर नागरिकों की जान खतरे में डालने का आरोप लगाया था.

अस्पताल में हजारों लोगों ने ली है शरण

एपी के मुताबिक गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि लगभग 30 हजार लोग अस्पताल में शरण लिए हुए हैं, जिनमें मरीज, चिकित्सा कर्मचारी और वे लोग भी शामिल हैं, जो सुरक्षा की तलाश में अपने घरों से भागकर आए हैं.
अस्पताल में शरण लेने वाले लोगों ने कहा कि टैंकों और भारी हथियारों से लैस इजराइली बलों ने अस्पताल परिसर को घेर लिया और सेना ने अस्पताल के भीतर मौजूद लोगों पर गोलियां बरसाईं. उन्होंने कहा कि सेना ने कई इमारतों को निशाना बनाया और दर्जनों लोगों को हिरासत में ले लिया.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment