इलेक्ट्रॉनिक 2024 में भारत का 5वां सबसे बड़ा निर्यात क्षेत्र बना, मोबाइल फोन कलपुर्जों पर आयात शुल्क घटा

On

नई दिल्ली। भारत ने मोबाइल फोन विनिर्माण में इस्तेमाल होने वाले कलपुर्जों पर आयात शुल्क 15 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया है। इस कदम का मकसद स्थानीय उत्पादन और निर्यात को बढ़ावा देना है। वित्त मंत्रालय ने सेल्युलर मोबाइल फोन के लिए स्क्रू, सिम सॉकेट या धातु की अन्य यांत्रिक वस्तुओं सहित कलपुर्जों के आयात पर शुल्क में कटौती संबंधी अधिसूचना 30 जनवरी को जारी की।

इंडियन सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (आईसीईए) के चेयरमैन पंकज महेंद्रू ने कहा कि यह भारत में मोबाइल विनिर्माण को प्रतिस्पर्धी बनाने की दिशा में सरकार का एक महत्वपूर्ण नीतिगत हस्तक्षेप है। महेंद्रू ने कहा, ‘‘इलेक्ट्रॉनिक 2024 में भारत का 5वां सबसे बड़ा निर्यात क्षेत्र बन गया है, जो कुछ साल पहले 9वें स्थान पर था।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना की बदौलत इलेक्ट्रॉनिक निर्यात में 52 प्रतिशत से अधिक मोबाइल का योगदान है। यह पिछले आठ वर्षों के भीतर आयात से निर्यात आधारित विकास में योगदान देने वाला पहला उद्योग है।’’

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

मप्र के मुख्यमंत्री मोहन यादव लखनऊ पहुंचे, 'यादव महाकुंभ' में लेंगे हिस्सा मप्र के मुख्यमंत्री मोहन यादव लखनऊ पहुंचे, 'यादव महाकुंभ' में लेंगे हिस्सा
लखनऊ। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव अपने एक दिवसीय दौरे पर रविवार को लखनऊ पहुंचे। मुख्यमंत्री डॉ. यादव...
'एक घाट चलो चलें मोदी के साथ' अभियान में अस्सी घाट पर चला सफाई अभियान
भाजपा उम्मीदवार राजनाथ सिंह की जीत के लिए जुटे चुनावी विस्तारक
प्रधानमंत्री मोदी के लिए मां गंगा से मांगा आशीर्वाद, गंगा आरती भी
यादव महाकुंभ में मुख्यमंत्री यादव बोले- यादव समाज किसी एक परिवार का ठेकेदार नहीं
टाटानगर से अयोध्या के लिए चार को रवाना होगी तीसरी आस्था स्पेशल ट्रेन
सलेमपुर से रविंदर कुशवाहा को तीसरी बार टिकट देकर भाजपा ने पिछड़े वोटों को साधा!