Pitru Paksha 2023: पितृ पक्ष 29 सिंतबर से होंगे शुरू, जानें कैसे करें पितरों को प्रसन्न और श्राद्ध की तिथि

On

 बरेली: 29 सितंबर को श्राद पक्ष शुरू होने वाले हैं। आप को बतातें हैं कि आप अपने पितृ को कैसे मनाए, जिससे वह प्रसंन होकर आप पर विशेष कृपा बरसाते रहें। इस बारे में श्राद्ध पक्ष 2023 की विस्तृत जानकारी देते हुए मारवाड़ी गंज स्थित आराध्य ज्योतिष केंद्र के संचालक आचार्य रमाकांत दीक्षित के अनुसार मंगल और केतु की युति में श्राद्ध आरम्भ होंगे। मान्यताएं हैं कि पितरों की पूजा करने से व्यक्ति को मृत्यु लोक में सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है। साथ ही सुख समृद्धि और वंश में वृद्धि होती है। पितरों के अप्रसन्न रहने पर जातक को जीवन में ढेर सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। अतः पितृ पक्ष के दौरान पितरों की अवश्य पूजा करें।

अश्विन माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा से लेकर अमावस्या तिथि तक पितृ पक्ष मनाया जाता है। तदनुसार, इस वर्ष 29 सितंबर से लेकर 14 अक्टूबर तक पितृ पक्ष मनाया जाएगा। गरुड़ पुराण में निहित है कि पितृ पक्ष के दौरान पूर्वज धरती पर आते हैं। इस दौरान पितरों को मोक्ष दिलाने हेतु तर्पण और श्राद्ध कर्म किए जाते हैं। ज्योतिषियों की मानें तो पितृ पक्ष के प्रथम दिन दुर्लभ ध्रुव योग समेत कई अद्भुत संयोग बन रहे हैं। इन शुभ योग में पितरों की पूजा करने से मनचाही मुराद पूरी होगी। 

यह भी पढ़े - गीता में जानें कैसे पाएं सफलता की चाबी

जानते है इस बार श्राद्ध की तिथियों के बारे में 

  • पूर्णमासी श्राद्ध  -29 -सितम्बर- शुक्रवार 
  • प्रतिपदा श्राद्ध - 30 -सितम्बर- शनिवार 
  • द्वितीया श्राद्ध  -1 -अक्टूबर- रविवार
  • तृतीया श्राद्ध -2 -अक्टूबर- सोमवार 
  • चतुर्थी श्राद्ध -3 -अक्टूबर -मंगलवार 
  • पंचमी श्राद्ध -4 -अक्टूबर -बुधवार 
  • षष्ठी श्राद्ध -5 -अक्टूबर -गुरुबार 
  • सप्तमी श्राद्ध -6 -अक्टूबर -शुक्रवार 
  • अष्टमी श्राद्ध -7 -अक्टूबर -शनिवार 
  • नवमी श्राद्ध -8 -अक्टूबर -रविवार 
  • दशमी श्राद्ध -9 -अक्तूबर- सोमवार 
  • एकादशी श्राद्ध -10 -अक्टूबर -मंगलवार  
  • द्वादशी श्राद्ध -11 -अक्टूबर- बुधवार 
  • त्रयोदशी श्राद्ध -12 -अक्टूबर- गुरुवार 
  • चतुर्दशी श्राद्ध -13 -अक्टूबर- शुक्रवार 
  • अमावस्या श्राद्ध (पितृ बिसर्जन ) -14 -अक्टूबर- शनिवार
Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment