गला काटकर युवक की हत्या, जमीन में गाड़ दी लाश ; सामने आ रही यह सच्चाई

On

Bihar News : बिहार राज्य के पूर्णिया में एक युवक का कटा हुआ सिर मिलने से हड़कंप मच गया। सिर से ही मृतक की शिनाख्त हुई और हत्या का राज खुला। मृतक की पहचान जोगेश्वर शर्मा (35) के रूप में हुई है। उसकी 12 साल पहले शादी हुई थी। उसके 4 बच्चे भी हैं। बताया जा रहा है कि मृतक जोगेश्वर का अपने ही मालिक कालीचरण की पत्नी से अफेयर चल रहा था। कालीचरण इसी बात से काफी नाराज था। मृतक की परिजनों ने अफेयर के चलते ही उसकी हत्या किए जाने की आशंका जताई है। घटना के बाद से ही कालीचरण और इस हत्याकांड से जुड़े लोग फरार हैं।

मृतक का सिर उसके घर से करीब 300 मीटर की दूरी पर नदी किनारे मक्के के खेत में मिट्टी के नीचे दफन मिला। हालांकि, सिर के नीचे का हिस्सा (धड़) अभी तक नहीं मिल पाया है। बायसी पुलिस, फोरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड की टीम पूरी रात धड़ खोजती रही, लेकिन पुलिस के हाथ अब तक कुछ नहीं लगा है। बायसी डीएसपी आदित्य कुमार का कहना है कि पुलिस हत्याकांड में शामिल फरार मालिक कालीचरण और इस वारदात से जुड़े सभी लोगों को जल्द ढूंढ निकालेगी। धड़ कहां है, इसका पता लगाने में पुलिस जुटी है। जोगेश्वर बायसी थाना क्षेत्र के मीनापुर पंचायत के वार्ड 17 डुमराह टोला के फूलभाषा गांव में अपने परिवार के साथ रहता था। मृतक की पत्नी गौमी ने अपने पति जोगेश्वर शर्मा की हत्या का आरोप उसके मालिक पर ही लगाया है।
पत्नी ने बताया कि उसके पति गांव में ही रहकर अपने मालिक कालीचरण की ट्रैक्टर चलाते थे। वह दो साल तक ट्रैक्टर चलाते रहे। इसी दौरान मालिक की पत्नी से उनका अफेयर हो गया। इस मामले को लेकर कालीचरण से पति की गहरी दुश्मनी चल रही थी। कई बार पंचायत भी बैठा। इसके बाद मालिक ने पति को जान से मारने की धमकी दी थी। बाद में उन्होंने काम छोड़ दिया था और वे सूरत चले गए थे और वहीं काम करने लगे। गौमी ने बताया है कि उसका पति 15 दिन पहले ही छुट्टी पर घर आए थे। उसकी छुट्टियां खत्म हो चुकी थी। वारदात वाले ही दिन उन्हें लौटना था। मृतक की पत्नी ने बताया कि 8 फरवरी को उनके खेत में धान की बुआई की जा रही थी।

इसके लिए वह आंख खुलते ही अपने पति के साथ खेत में आ गई थीं। खेत से काम कर दोनों देर दोपहर करीब 1.30 बजे खाना खाने घर लौट चुके थे। इसके ठीक आधे घंटे बाद ही पति के मोबाइल फोन पर किसी का कॉल आया था। इसके बाद वह घर से निकले, लेकिन लौट कर वापस नहीं आए। उन्होंने बच्चों के साथ मिलकर गांव, सगे-संबंधी और आस पास के गांव में भी ढूंढा। खेत पर भी गई, लेकिन कहीं कुछ पता नहीं चल सका। खोजबीन के क्रम में शनिवार को उनके घर से करीब 300 मीटर की दूरी पर नदी किनारे मक्के के खेत में पति के चप्पल, टोपी और मोबाइल मिला। वहीं, कुछ दूर आगे जाने पर खून से सना एक चाकू फेंका हुआ था।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

ताजा समाचार

यूपी में फंस गए इन भाजपा नेताओं के टिकट : पहली लिस्ट में नहीं आया नंबर, बलिया पर भी फ़िलहाल उम्मीदवार की घोषणा नही यूपी में फंस गए इन भाजपा नेताओं के टिकट : पहली लिस्ट में नहीं आया नंबर, बलिया पर भी फ़िलहाल उम्मीदवार की घोषणा नही
Lucknow News : लोकसभा चुनाव की घोषणा से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी...
72 घंटे से अंधेरे में डूबा बलिया का यह गांव... जिम्मेदारों ने साधी चुप्पी
संभल: हाथों पर सजी थी महंदी...रिश्तेदारों में बांट दिए थे शादी कार्ड, लड़के ने किया इंकार तो दर्ज हुई FIR!जाने मामला
झारखंड के 14 में से 11 संसदीय सीटों के लिए भाजपा के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, फिर खूंटी से लड़ेंगे अर्जुन मुंडा
Lok Sabha Election 2024: बांदा से आरके सिंह पटेल और हमीरपुर से पुष्पेंद्र होंगे भाजपा के प्रत्याशी
Lok Sabha Election: Fatehpur से तीसरी बार चुनाव लड़ेगी साध्वी निरंजन ज्योति...प्रत्याशियों में दौड़ी खुशी की लहर
Lok Sabha Election: Kannauj से लंबी जद्दोजहद के बाद सुब्रत पाठक का टिकट फाइनल...चौथी बार क्षेत्र से आजमाएंगे भाग्य