कहीं बारिश तो, हिमाचल में अंधड़ में तीन की मौत, 19 वाहन क्षतिग्रस्त

On

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से लेकर हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पूर्वोत्तर के पहाड़ी क्षेत्रों में शनिवार को जमकर बारिश और बर्फबारी हुई। हिमाचल में करीब 10,000 फुट की ऊंचाई पर स्थिति अटल टनल के आसपास भी ताजा हिमपात हुआ है। बारिश और बर्फबारी से खराब हुए मौसम के चलते हिमाचल में 172 सड़कों पर यातायात बंद हो गया है। पंजाब और हरियाणा के भी विभिन्न इलाकों में आंधी-तूफान और गरज के साथ बारिश हुई है, जिससे गेहूं की फसलों को भारी नुकसान होने की आशंका है। मौसम विभाग के मुताबिक, अभी मौसम के मिजाज में यह बदलाव दो से तीन दिनों तक बना रहेगा। हालांकि, कुछ इलाकों में इसकी तीव्रता रविवार से कम हो जाएगी।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने बताया कि मध्य प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, दिल्ली में भी तेज हवाएं चलीं और गरज के साथ कुछ स्थानों पर बारिश दर्ज की गई। वहीं, पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में रात के समय गर्मी महसूस की गई। मध्य प्रदेश और पश्चिमी राजस्थान के कुछ इलाकों में लू जैसी स्थिति भी बनी रही। आईएमडी के मुताबिक, उत्तर पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत में रविवार से मौसम में सुधार की उम्मीद है। यानी बारिश और आंधी-तूफान की स्थिति से राहत मिलेगी। पूर्वोत्तर भारत में एक अप्रैल तक बारिश और अंधड़ जारी रह सकता है। मध्य और प्रायद्वीपीय भारत में अगले तीन से पांच दिनों तक दिन और रात दोनों ही समय में अत्यधिक गर्मी महसूस की जाएगी।

हिमाचल के कांगड़ा में खेत में गिरे बिजली के तार की चपेट आने से नानी-दोहती और ऊना में बच्ची पर पेड़ गिरने से हुई मौत हो गई। अंधड़ की वजह से 19 वाहन क्षतिग्रस्त हो गए।  दस घरों की छत उड़ गईं। शिमला स्थित स्थानीय मौसम विज्ञान केंद्र ने हिमाचल प्रदेश में चार अप्रैल तक बारिश की संभावना जताई है। इस दौरान राज्य के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हो सकती है और घाटी और मैदानी इलाकों में आंधी-तूफान के हालात बन सकते हैं। शनिवार को भी पूरे प्रदेश में भारी बारिश और बर्फबारी दर्ज की गई और तेज हवाएं भी चलीं, जिसके चलते राष्ट्रीय राजमार्ग समेत 172सड़कों को बंद करना पड़ा। 

मौसम विभाग ने राज्य के 12 में से सात जिलों में आंधी-तूफान और बारिस को लेकर पहले ही ऑरेंज अलर्ट जारी किया था। यातायात पुलिस ने लाहौल स्पीति आने वाले सैलानियों के लिए एडवाइजरी जारी की है और अटल टनल से दक्षिण छोर से सोलांग नाला तक लेह-मनाली हाईवे पर यातायात से बचने को कहा है।

यह भी पढ़े - जेल में कैदियों के बीच खूनी झड़प, दो की मौत

15 मिमी तक हुई पंजाब-हरियाणा में बारिश
पंजाब और हरियाणा के विभिन्न इलाकों में बीते 24 घंटे में मूसलाधार बारिश दर्ज की गई। पंजाब के लुधियाना और अमृतसर में क्रमश: 15.4 मिमी और 4.2 मिमीवर्षा दर्ज की गई। पटियाला में दो मिमी, पठानकोट में एक मिमी, बठिंडा में 7 और फरीदकोट में 4.8 मिमी बरसात दर्ज की गई।  केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ और हरियाणा के अंबाला  में क्रमश: 8.6 और 5.6 मिमी बरसात हुई। अंधड़ और बारिस से गेहूं के फसल पर असर पड़ने की आशंका है। दोनों राज्यों में 1 अप्रैल से गेहूं की खरीद का समय शुरू होता है।

गुलमर्ग-पहलगाम में भारी बर्फबारी
जम्मू-कश्मीर के गुलमर्ग और पहलगाम समेत कई इलाकों में भारी बर्फबारी के साथ बारिश हुई है। इससे गर्मी से कुछ राहत मिली है। प्रमुख स्कि रिसॉर्ट गुलमर्ग में शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात बर्फबारी हुई। वहीं, दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में पहलगाम और उत्तरी कश्मीर के गुरेज में शनिवार तड़के हिमपात हुआ। इन इलाकों में तीन इंच तक हिमपात दर्ज किया गया है। लद्दाख में श्रीनगर-लेह हाईवे से लगते द्रास शहर में भी ताजा बर्फबारी हुई है। श्रीनगर समेत कश्मीर घाटी के मैदानी क्षेत्रों में शुक्रवार की रात से ही जोरदार बारिश शुरू हुई जो शनिवार सुबह तक जारी रही।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment