जमीन को लेकर छिड़े खूनी संघर्ष में छह लोगों की मौत हो गई।

On

दिल्ली। मध्य प्रदेश के चंबल में जमीन को लेकर हिंसक संघर्ष से जुड़ा एक दिल दहला देने वाला किस्सा सामने आया है।

दिल्ली। मध्य प्रदेश के चंबल में जमीन को लेकर हिंसक संघर्ष से जुड़ा एक दिल दहला देने वाला किस्सा सामने आया है। मुरैना जिले में जमीन विवाद को लेकर दो परिवारों के बीच जमकर मारपीट हुई. इस घटना से अब छह लोगों की मौत की बात उजागर हो रही है।

सिहौनिया थाने के मुरैना मोहल्ले के लेपा गांव में जमीन विवाद को लेकर दो गुटों में खूनी संघर्ष हो गया. विवाद में दोनों पक्षों के लोगों ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही सिंघौनिया समेत आसपास के थानों की पुलिस फोर्स लेपा गांव पहुंच गई। घटना से गांव में कोहराम मच गया है। गांव के मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए मुरैना अस्पताल भेजा गया है। वहीं घायलों को भी इलाज कर मुरैना अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इन व्यक्तियों का निधन

भूमि विवाद को लेकर हुए जानलेवा संघर्ष में लेस कुमारी की पत्नी वीरेंद्र सिंह, बबली की पत्नी नरेंद्र सिंह तोमर, मधु कुमारी की पत्नी सुनील तोमर, गजेंद्र सिंह के बेटे बदलू सिंह, सत्यप्रकाश के बेटे गजेंद्र सिंह और संजू के बेटे गजेंद्र सिंह की मौत हो गई. विनोद सिंह के बेटे सुरेश सिंह तोमर और वीरेंद्र के बेटे गजेंद्र सिंह दोनों को चोटें आई हैं।

यह भी पढ़े - महापाप : पाकिस्तान के खैबर जिले में ऐतिहासिक हिंदू मंदिर को गिराया गया

लेपा गांव के राधे तोमर और रंजीत तोमर के बीच जमीन विवाद चल रहा था। 2014 में दो पक्षों में हुए विवाद के दौरान राधे तोमर के परिवार के दो-तीन सदस्यों की रंजीत तोमर के पक्ष में हत्या कर दी गई थी। इसके बाद रंजीत तोमर का परिवार गांव छोड़कर भाग गया। कुछ दिन पहले जब वह समुदाय में लौटा तो प्रतिशोध लेने के प्रयास में मारपीट की।

आरोपी परिवार पकड़ से भाग रहा है

आरोपी परिवार वारदात को अंजाम देकर फरार हो गया। इस घटना के बाद से गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। गांव में कोई बोलने को तैयार नहीं है। पुलिस वाले आ गए हैं। साथ ही आरोपी की तलाश कर रही है। पुलिस का मानना है कि संदिग्ध घास के मैदानों और खड्डों में छिपा हो सकता है।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment