संदेश खाली में महिलाओं के साथ हो रहे उत्पीड़न को लेकर विद्यार्थी परिषद की प्रेस वार्ता

On

समस्तीपुर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समस्तीपुर द्वारा जिला संयोजक कुंदन यादव की अध्यक्षता में सोमवार को संदेश खाली में महिलाओं के साथ हो रहे उत्पीड़न को लेकर प्रेस वार्ता आयोजित की गई। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए विभाग संयोजक अनुपम कुमार झा ने कहा कि बंगाल की पवित्र भूमि देवी स्वरूप शक्ति की आराधनास्थली रही है।

दुर्भाग्य बस वर्तमान में पश्चिम बंगाल के संदेश खाली में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की वोट बैंक की संकीर्ण राजनीति के चलते महिलाओं की अस्मिता के साथ खिलवाड़ करने वाली ताकते अपने चरम पर है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मानवता को शर्मसार करने वाली इस घटना की कठोरता से भ्रत्सना करती है ऐतिहासिक परिपेक्ष्य में देखे तो अक्टूबर नवंबर 1946 में स्वतंत्रता पूर्व के तत्कालीन संयुक्त बंगाल में नोआखाली की विध्वंसक घटना भी जिहादियों के विस्तारवादी चरित्र का ही प्रतिबिंब थी। संदेशखाली की घटना भी इस की पुनरावृत्ति प्रतीत होती है।

यह भी पढ़े - BREAKING NEWS: शहीद अंशुमान के माता-पिता ने बहू पर लगाए कई गंभीर आरोप

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद माननीय राष्ट्रपति से यह मांग करती है कि सत्ता प्रायोजित एवं सत्ता संपोषित हिंसा और महिलाओं की सामूहिक अस्मिता के हनन पर अभिलंब अंकुश लगाए एवं इस पूरे प्रकरण की केंद्रीय एजेंसी से उच्च स्तरीय जांच कराई जाए।जिला संयोजक कुंदन यादव ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कल 5 मार्च को राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत समस्तीपुर में भी बलिराम भगत महाविद्यालय से शुरू होकर पूरे शहर में आक्रोश मार्च निकालेगी और जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंप कर पीड़ित महिलाओं को न्याय प्रदान करने की मांग करेगी।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts