बिहार: सेल्फी के चक्कर में डूबीं एक ही गांव की पांच लड़कियां, परिवार के साथ जीतिया स्नान करने आई थीं सभी

On

भोजपुर जिला के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा पत्थरवा घाट पर शनिवार की शाम पांच बजे सोन नदी में जिउतिया स्नान के दौरान सेल्फी लेने के चक्कर में एक नवविवाहिता समेत पांच युवतियां डूब गयीं. स्थानीय लोगों ने बताया कि सेल्फी लेने के दौरान एक युवती पैर फिसलने से गहरे पानी में चली गयी. इसके बाद एक-दूसरे को पकड़ने के चक्कर में पांचों युवतियां डूब गयीं. देर रात तक इनकी तलाश की जा रही थी. इस घटना के बाद घाट पर चीख-पुकार मच गयी. इस हादसे में दो परिवारों के दो-दो और एक परिवार की एक युवती के डूबने की सूचना है. घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय गोताखोरों ने नदी में छलांग लगायी, लेकिन उन्हें सफलता हाथ नहीं लगी.

परिवार संग जिउतीया स्नान करने आये थे सभी

यह भी पढ़े - SBI का ग्राहकों को बड़ा तोहफा, सिर्फ 45 मिनट में मिलेगा लोन

शनिवार को शाम के तीन बजे के करीब सभी चांदी स्थित अपने घर से बहियारा स्थित पत्थरवा घाट आये थे. इसी दौरान सभी सोन नद में स्नान करने उतर गई. इसी बीच अचानक सभी गहरे पानी में चली गयी और डूबने लगी. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जैसे ही वे डूबने लगी एक दूसरे को पकड़ कर खिंचने की कोशिश करने लगीं लेकिन एक के बाद एक सभी गहरे पानी में चली गयी और नदी की तेज धार की वजह से डूब गए.

अवैध खनन बना डूबने के कारण

सोन नद में जिउतीया स्नान करने आई महिलाओ ने रोते हुए बताया कि जिस जगह पर हम लोग स्नान कर रहे थे वहां पहले से नदी में पानी के अंदर मशीन से बालू खोदा गया था.जिसकी वजह से नदी में पैर धंस रहा था. यही कारण था कि दूसरे गांव से आई व्रतियों और साथ गयी युवतियों और महिलाओं को स्नान करने के दौरान इसका अंदाज नहीं मिला. इसी दौरान पांचों युवतियां एक एक कर उस गहरे पानी में बने धंसान में डूबती चली गयी और एक दूसरे को बचाने के क्रम में गहरे पानी में चली गयी और डूब गई.

स्थानीय गोताखोरों के प्रयास के बाद भी नहीं मिली सफलता

जैसे ही पांचों युवतियां नदी के गहरे पानी में डूबी घाट पर चीख पुकार मच गई. जिउतिया स्नान करने आई व्रतियों की चीख पुकार सुन स्थानीय लोग और गोताखोर घाट की ओर दौड़े और नदी में छलांग लगा दी. हालांकि घाट से बहियारा गांव की आबादी काफी दूरी पर है. जबतक स्थानीय लोग और गोताखोर पहुंचते तबतक बहुत देर हो चुकी थी. गोताखोरों ने शाम पांच बजे से लेकर अंधेरा होने तक काफी छानबीन की लेकिन उन्हें सफलता हाथ नहीं लगी.अंधेरा होने पर थक हार कर गोताखोरों ने खोजबीन बन्द कर दिया.

डूबने वालों की हुई पहचान

डूबने वालो में चांदी थाना क्षेत्र के चांदी निवासी चितरंजन वर्मा की दो बेटियां 16 वर्षीय चंद्रावती कुमारी और 15 वर्षीय सुमन कुमारी है. इसके साथ ही कुंजनटोला चांदी निवासी ददन राय की 20 वर्षीय शादीशुदा पुत्री अनिता कुमारी और रिश्ते में साला की बेटी और उदवंतनगर के करवां मिल्की निवासी दशरथ यादव की 18 वर्षीय पुत्री निशा कुमारीभी डूब गई. इसके लावा चांदी के ही देवेन्द्र वर्मा की 19 बर्षीय बेटी अंजली कुमारी भी डूबने वालों में शामिल है. इनमें से ददन राय की पुत्री अनिता कुमारी की शादी पिछले वर्ष ही कोइलवर के नारायणपुर निवासी प्रभुनाथ सिंह के पुत्र ऋषभ कुमार से हुई थी. वह अपने मायके कुंजनटोला आई थी. अनिता और निशा आपस मे ममेरी-फुफेरी बहन हैं. वहीं चांदी थाना के चांदी निवासी चितरंजन वर्मा की दो बेंटियां चंद्रावती और सुमन तथा देवेंद्र वर्मा की बेटी अंजली आपस में चचेरी बहन है.

परिजनों के घर मचा चीख पुकार

इधर एक ही गांव के पांच युवतियों के डूबने की सूचना मिलते ही हाहाकार मच गया. परिजनों को जैसे ही इसकी सूचना मिली चीख पुकार मच गई. जिसको जैसे सूचना मिली सब बहियारा स्थित सोन नद घाट की ओर दौड़े. घाट पर भी महिलाओं के चीख पुकार से माहौल गमगीन हो गया. एक ही गांव के तीन परिवारों के पांच युवतियों के अचानक इस तरह नदी में डूब जाने से पूरा गांव गमजदा दिखा. सब के चेहरे पर इस दुख को लेकर गमगीन था.

रविवार सुबह फिर होगी खोजबीन

इधर घटना की सूचना पर दलबल के साथ घाट पर पहुंचे चांदी थानाध्यक्ष सौरभ कुमार ने बताया कि सूचना मिलने के साथ ही घटनास्थल पर पहुंचा तथा दलबल के साथ स्थानीय गोताखोरों की मदद से बचाव कार्य चलाया गया. स्थानीय गोताखोरों के अथक प्रयास के बावजूद किसी के शव को खोजा नहीं जा सका है. वरीय पदाधिकारियों को सूचना दी गयी है. रविवार की सुबह एसडीआरएफ और स्थानीय गोताखोरों की मदद से डूबने वालों की खोजबीन की जाएगी.

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment