पर्यावरण शिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत एक दिवसीय नेचर कैंप का आयोजन प्राकृतिक वातावरण में विद्यार्थियों ने अनूठी जानकारी एवं ज्ञान किया अर्जित

On

कटनी: पर्यावरण वन एवं जलवायु मंत्रालय नई दिल्ली तथा पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन एप्कों भोपाल मध्य प्रदेश के निर्देशानुसार पर्यावरण शिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थियों में पर्यावरण हितैसी जीवन शैली अपनाने एवं प्रकृति से जुड़ाव हेतु प्रेरित करने के उद्देश्य से शासकीय तिलक स्नातकोत्तर महाविद्यालय कटनी ईको क्लब द्वारा मंगलवार को एक दिवसीय नेचर कैंप का आयोजन किया गया।

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर एस के खरे के मार्गदर्शन में मंगलवार को पर्यावरण भ्रमण के लिए रूपनाथ बहोरीबंद में प्रकृति भ्रमण का आयोजन किया गया। यह यात्रा पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की पर्यावरण शिक्षण कार्यक्रम के तहत किया गया। वन के प्राकृतिक वातावरण में विद्यार्थियों ने पर्यावरण से संबंधित अनूठी जानकारी एवं ज्ञान अर्जित किया। जंगल जैव विविधता के संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं इसमें विभिन्न जीव जंतु एवं वनस्पतियां निवास करते हैं।

यह भी पढ़े - Bihar: ट्रिपल मर्डर से हड़कंप, प्रेम-प्रसंग में पिता और 2 बेटियों की हत्या

जंगल के बिना जीवन संभव नहीं है। इसके महत्व को विद्यार्थियों ने अच्छे से समझा। ईको क्लब प्रभारी ज्योत्सना आठ्या ने बताया कि प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर रूपनाथ पुरातात्विक, ऐतिहासिक एवं धार्मिक महत्व को दर्शाता है। रूपनाथ में स्थित भगवान रूपनाथ के दर्शन और प्रार्थना के बाद विद्यार्थियों ने प्रकृति को नजदीक से देखा और इसके महत्व को समझा। रूपनाथ अपनी चट्टानों झरनों सीताराम और लक्ष्मण के लिए प्रसिद्ध है।

विद्यार्थियों ने जल जंगल और स्वच्छता के बारे में जानकारी प्रदान किया। विद्यार्थियों ने पर्यावरण, स्वच्छता अभियान, जल संरक्षण एवं वेटलैंड के संरक्षण हेतु, लाइफ शपथ ली। इस नेचर कैंप में डॉ माधुरी गर्ग विभाग अध्यक्ष हिंदी, ईको क्लब प्रभारी ज्योत्सना आठ्या, सह प्रभारी डॉक्टर रुक्मणी प्रताप सिंह, डॉक्टर ज्योत्सना पाठक, माधुरी सिंह आदि का सक्रिय सहयोग रहा।

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment

Popular Posts