5 अक्टूबर का इतिहास: आज के ही दिन भारतीय दंड संहिता कानून हुआ था पारित, जानें प्रमुख घटनाएं

On

नई दिल्ली। भारतीय एवं विश्व इतिहास में 06 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएं इस प्रकार है। 

1499-फ्रांस के राजा लुईस ने मिलान पर क़ब्ज़ा किया। 
1723-बेंजामिन फ्रेंकलिन 17 साल की उम्र में फिलाडेल्फिया पहुंचे। 
1762-ब्रिटिश सैनिकों ने फिलीपींस के मनीला पर क़ब्ज़ा किया। 
1862-भारतीय दंड संहिता कानून पारित हुआ और एक जनवरी से लागू हुआ। 
1919-तांबुलीस्की बुल्गारिया के प्रधानमंत्री बने। 
1935-भारत में 32 साल के सबसे लंबे समय तक अंपायरिंग करने वाले जीवन डी घोष का बंगाल में जन्म हुआ। 1946-हिन्दी फ़िल्म अभिनेता विनोद खन्ना का जन्म। 
1957-सोवियत संघ ने नोवाया ज़ेमल्या में परमाणु परीक्षण किया। 
1963-पंजाब के स्वतंत्रता सेनानी ग्रैंड ओल्ड मैन बाबा खड़क सिंह का जन्म। 
1972-मेक्सिको में ट्रेन पटरी से उतरने से 208 लोगों की मौत। 1980-गुयाना ने संविधान को अंगीकार किया।
1981-काहिरा में सैनिक परेड के दौरान एक सैनिक समूह द्वारा मिस्र के राष्ट्रपति अनवर सादात की हत्या। 
1983-पंजाब में राष्ट्रपति शासन लगाया गया। 1987-फिजी एक गणराज्य घोषित हुआ।
1994-यूनेस्को ने वर्ष 1995 को संयुक्त राष्ट्र सहिष्णुता वर्ष के रूप में मनाने की घोषणा की। 
1995-दो स्विस वैज्ञानिकों ने पृथ्वी के सौर व्यवस्था के बाहर गृह की पहली बार पहचान की। 
1999-संयुक्त राष्ट्र निरस्त्रीकरण सम्मेलन आस्ट्रेलिया की राजधानी वियना में प्रारम्भ। 
2000-इस्रायली पुलिस द्वारा अलअक्सा मस्जिद में जबरन प्रवेश के बाद हिंसा शुरू। 
2002-नेपाल के नरेश ज्ञानेन्द्र वीर विक्रम शाह देव ने सत्ता नहीं संभालने की घोषणा की। 
2004-इस्रायली सैन्य अभियान को रोकने का प्रस्ताव अमेरिका ने वीटो किया। 
2006-संयुक्त राष्ट्र ने लेबनान में शांति रक्षकों को बल प्रयोग का अधिकार दिया। 
2007-परवेज मुशर्रफ़ एकतरफ़ा जीत के साथ पाकिस्तान के राष्ट्रपति पद पर निर्वाचित घोषित हुए। 
2008-वैश्विक मंदी के मद्देनज़र भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों के नक़द सुरक्षित अनुपात (सीआरआर) में आधा प्रतिशत की कटौती का फ़ैसला किया। 
2012-प्रसिद्ध भारतीय वकील, नेता एवं पश्चिम बंगाल के 19वें राज्यपाल बी सत्या नारायण रेड्डी का निधन। 
2021-भारतीय सिनेमा में छोटे परदे के प्रसिद्ध कलाकार अरविंद त्रिवेदी का निधन।

यह भी पढ़े - केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार मप्र पहुंचे शिवराज, हुआ जोरदार स्वागत

Ballia Tak on WhatsApp

Comments

Post A Comment